यह है देश का इकलौता शिवलिंग जो स्वयं घूमता है 360 डिग्री पर!

अपना देश भारत एक धर्म प्रधान देश रहा है। अपने देश में एक से बढ़कर एक धार्मिक मंदिर हैं। एक ऐसा ही मंदिर मध्यप्रदेश के श्योपुर के छारबाग मोहल्ले  का गोविंदेश्वर महादेव मंदिर है जो कि देश का एकमात्र ऐसा मंदिर है जहां उपस्थित है शिवलिंग अपनी धुरी पर चक्की की तरह 360-degree स्वयं घूम जाती है।

Image Source google

शिवलिंग को घुमा मानते मन्नत

श्रद्धालु लोग यहां आकर इस शिवलिंग को घुमा कर अपने मन्नत मानते हैं। लोगों का मानना है कि इस शिवलिंग को घुमा कर मांगी हुई मन्नत पूरी हो जाती है। यह शिवलिंग 300 दिन पुरानी मानी जाती है और यह देश का दूसरा ऐसा शिवलिंग है जो दक्षिणा मुख है इसके अलावा महाराष्ट्र के नासिक में स्थित शिव मंदिर की शिवलिंग भी दक्षिणा मुखी है।

Image Source google

गोविंदेश्वर महादेव मंदिर के पुजारी पंडित मोहन बिहारी शास्त्री ने बताया कि इस शिवलिंग का मुख नंदी की प्रतिमा की ओर रहता है लेकिन कोई भी भक्त शिवलिंग को घुमा कर उसकी मुख किसी भी और कर सकता है इससे भी बड़ी बात उन्होंने यह बताएं कि साल में एक बार या शिवलिंग अपने आप भी घूमा करता है।

24 खंभों की दूसरी मंजिल पर स्थित यह शिवलिंग काफी आश्चर्यजनक देखने में भी लगती है। इस मंदिर की पहली मंजिल पर भगवान गणेश की प्रतिमा है। मंदिर के पुजारी जी के अनुसार साल में एक बार रात के समय मंदिर की घंटी या खुद अपने आप बजे लगती है और आरती होती रहती है इस दौरान शिवलिंग भी अपने आप घूमने लगती है।

Image Source google

बता दे कि दक्षिण मुखी शिवलिंग की पूजा सबसे पहले पांडवों ने कि थी यह मंदिर 11 साल पुराना बताया जाता है लेकिन इस घूमने वाली मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा 300 साल पहले ही हुई थी। श्योपुर के गौर वंशज राजा पुरषोत्तम दास ने 1722 में इस शिवलिंग को महाराष्ट्र के शोलापुर से लाये थे।