Success Story: देश के पूर्व आईआईटियन टॉप 10 अमीरो की सूची में शामिल हुए, हर दिन कमाते हैं 153 करोड़!

IIFL वेल्थ हारून इंडिया रिच लिस्ट 2021 जारी (IIFL Wealth Aaron India Rich List 2021) कर दी गई है। इसके मुताबिक देश के 10 टॉप रईसों की लिस्ट में 62 साल के बिसनेस टायकून जय चौधरी (Jay Chaudhry) का नाम भी शामिल है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक जय चौधरी की कुल संपत्ति (Jay Chaudhry Total Worth) 1,21,600 करोड रुपए की गई है। सूची द्वारा जारी की गई जानकारी के मुताबिक बीते एक साल में उन्होंने रोजाना ₹153 की कमाई (Success Story Of Jay Chaudhry) की है। कौन है भारत के 10 सबसे अमीर लोगों की सूची (India Top 10 Richest Man Name List) में अपना नाम शामिल करने वाले आईआईटीएन जय चौधरी (Who is Jay Chaudhry)…? आइए हम आपको डिटेल में बताते हैं।

Success Story Of Jay Chaudhry

कौन है देश के 10 अमीरों में शामिल होने वाले जय चौधरी?

जय चौधरी का जन्म एक छोटे से गांव में हुआ था और आज वह Zscaler कंपनी के सीईओ और संस्थापक है। उन्होंने साल 2007 में साइबर सिक्योरिटी फॉर्म की स्थापना की थी। आईआईटी के पूर्व छात्र नैस्डेक सूचीबद्ध फॉर्म में 42% के मालिक भी हैं। उनका मार्केट कैप 2,81,000 करोड रुपए है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक कॉर्पोरेट रेनसमवेयर के कारण उनकी कंपनी की साइबर सिक्योरिटी कंपनी की डिमांड में बढ़ोतरी ने उनके नाम की अपार संपत्ति में लगभग 85% योगदान दिया है। इतना ही नहीं इसके साथ-साथ उन्हें IIFL वेल्थ हारून इंडिया रिच लिस्ट 2021 में 10 में स्थान पर भी अपना मुकाम खड़ा करने में मदद की है।

Success Story Of Jay Chaudhry

सॉफ्टवेयर इंडस्ट्री में जय चौधरी की है अलग पहचान

जय चौधरी का नाम इंडस्ट्री के दिग्गज बिजनेस टायकूंस में आता है। खास बात यह है कि यह मुकाम उन्होंने खुद अपने दम पर खड़ा किया है। जय चौधरी को आज देश के प्रमुख कारोबारियों में गिना जाता है। हालांकि वह हमेशा अरबपति नहीं थे। उनका जन्म बेहद साधारण परिवार में हुआ था और बेहद साधारण ही उनके सपने थे। उनके पैतृक गांव पन्नों में कई बार तो उन्हें और उनके परिवार को बिजली और पानी के बिना ही कई कई दिन भी गुजारने पड़ते थे।

Success Story Of Jay Chaudhry

बीते दो साल रहे टर्निंग पॉइंट

जय चौधरी के मुताबिक उनके इस सफलता के मुकाम में एक योगदान कोविड-19 महामारी का भी रहा। दरअसल इस दौरान जब अधिकांश देश रफ्तार के साथ तालमेल बिठा रहा था और वर्क फ्रॉम होम लोगों की सबसे पहली प्रायोरिटी का हिस्सा बन गया था, तो दुनिया भर में साइबर सुरक्षा की आवश्यकता भी बहुत ज्यादा स्तर पर बढ़ गई थी। साल 2020 के दौरान जय चौधरी की कंपनी के सिक्योरिटी प्रोसेस की डिमांड तेजी से बढ़ने लगी। इसके साथ ही शेयरों में लगभग 300% का उछाल भी आया।

इसके बाद उनकी कंपनी ने जूम जैसे सॉफ्टवेयर प्रोग्राम की लीग में भी कदम रखा। द सॉफ्टवेयर रिपोर्ट में उनकी सक्सेस को लेकर बताया गया है कि साल 2020 में कंपनी के राजस्व का लगभग 50% हिस्सा वैल्यू ऐडेड रिजल्ट के परिणाम स्वरूप सामने आया था। ऐसे में यह साल उनके लिए उनकी जिंदगी का सबसे बड़ा टर्निंग प्वाइंट साबित हुआ।

Success Story Of Jay Chaudhry

पत्नी के साथ की थी सपने की शुरुआत

Zscaler की स्थापना करने से पहले चौधरी ने चार अन्य कंपनियों की भी स्थापना की थी। हालांकि इन कंपनियों को खरीदा लिया गया था। इन कंपनियों का नाम सिक्योरिटी को सिक्योरआईटी, कोरहार्बर, सिफरट्रस्ट और एयरडिफेंस था। उनकी पिछली कंपनियों को लेकर यह कहा जाता है कि किसी कंपनी के कारोबार को इस हद तक फैलाने और इस मुकाम तक पहुंचाने का यह उनका पहला मौका था। असल में सिक्योरआईटी ही उनकी पहली स्टार्टअप कंपनी थी, जिसे उन्होंने साल 1996 में शुरू किया था। तब उन्होंने अपनी पत्नी के साथ मिलकर पहले नौकरी छोड़ीऔर उसके बाद अपनी जमा पूंजी और प्रोटो साइबरसिक्योरिटी फॉर्म में निवेश कर दिया।

Success Story Of Jay Chaudhry

आज उन्होंने अपने इसी मुकाम पर सीढ़ी दर सीढ़ी चढ़ते हुए ये कामयाबी हासिल की है। आज उनका नाम और उनका चेहरा IIFL वेल्थ अरुण इंडिया रिच लिस्ट 2021 में टॉप 10 सबसे अमीर हो की लिस्ट में आता है।