सुकमा नक्सली हमला मे बड़ा खुलासा यहाँ से मिला था नक्सलियो को गोला बारूद

शनिवार को छत्तीसगढ़ के सुकमा में हुए नक्सली हमले में एक बड़ा खुलासा सामने आया है खबर यह है कि नक्सलियों के गोला बारूद सप्लाई करने वाले चैन का पता चल गया है खबर है कि इस बार नक्सलियों ने गोला बारूद कर्नाटक और तमिलनाडु से आयी थी।उनके मुताबिक शनिवार को हुई हमले में यहीं से आए गोला बारूद का इस्तेमाल किया गया था।

बताया कि कुछ समय पहले जहां नक्सली गोला बारूद की कमियों से जूझ रहे थे वहीं अब स्थिति चिंताजनक बन गई है सूत्रों के मुताबिक नक्सलियों की को जो यह खेप मिली है वह बहुत ही बड़ा है अभी उनके पास बहुत मात्रा में गोला-बारूद है। सुरक्षा एजेंसियों को इसके बारे में बाद में भनक लगी।

जब सुरक्षा विभाग इस हमले की जांच कर रही थी तो 5 घंटों में नक्सलियों के गोला बारूद का हिसाब लगा गया सुरक्षा एजेंसी चौक गई क्योंकि कुछ दिन पहले जो नक्सली गोला-बारूद की कमी से जूझ रहे थे उन्होंने लगातार 5 घंटे तक 2 से 5000 तक राउंड फायरिंग किए। इस कारण सुरक्षा बलों का भारी नुकसान हुआ।

सुरक्षा एजेंसियों ने पाया कि इसके पहले भी कुछ दिनों मे गिरफ्तार नक्सली से प्राप्त हथियार  काफी मात्रा में होते हैं इतना हथियार पहले कभी प्राप्त नहीं होते थे। इसलिए सुरक्षा एजेंसियों ने इस पर जांच करना आरंभ किया कि इतनी मात्रा में गोला-बारूद आखिर कहां से आ रहा है।

इससे पहले हथियारों की सप्लाई उत्तर प्रदेश और बिहार से

इससे पहले हथियारों की सप्लाई उत्तर प्रदेश और बिहार से होती थी जहां इन्हें हथियारों की प्राप्ति नेपाल से आने वाले रास्ते से होती थी परंतु इन रास्तों पर भारी सुरक्षा चौकसी के कारण अभी यहां से गोला बारूद और हथियारों का सप्लाई लगभग समाप्त हो चुका है।

हाल फिलहाल ही में ही चेन्नई में गिरफ्तार एक नक्सली से इसका तार हथियारों की सप्लाई लेकर जोड़ा जा रहा है। खुफिया विभाग के सूत्रों के मुताबिक हथियारों की सप्लाई के पीछे एक बहुत ही बड़े नक्सली का हाथ है।

अब नंबला केशव राव सीपीआई माऊिस्ट के महासचिव

उन्होंने बताया अभी नंबला केशव राव ने सीपीआई माऊिस्ट के महासचिव पद को संभाल है।इससे पहले वह  नक्सलियों के मिलिटरी विंग का चीफ हुआ करता था।वह पहले भी गोला बारूद के सप्लायर से जुड़ा रहा है। इसके महासचिव बनने से नक्सलियों को गोला बारूद मिलने में काफी आसानी हो गई है।