उस हरकत से टूट गयी थी मैं,चेहरा भी नहीं देख पायी 8 महीने-विद्या बालन का खुलासा

विद्या बालन बॉलीवुड की उन अभिनेत्रियों में एक है जो अपनी प्रतिभा के कारण आज बॉलीवुड में अपना नाम बनाया है।विद्या बालन ने बॉलीवुड में अपनी शुरुआत 2005 में फिल्म परिणीता से की थी।इसके बाद उन्होंने कई हिट फिल्में दी और फिल्मी करियर इनका आज काफी आगे निकल चुका है।पिछले साल ही इनकी फिल्म मंगलयान सुपरहिट साबित हुई।

परंतु उनकी कैरियर की शुरुआत के दिन काफी कष्ट में रहा है।इन्हें काफी कुछ ऐसा भी देखना पड़ा जिसकी उम्मीद भी नहीं की जा सकती है। विद्या बालन ने अपने एक इंटरव्यू मे इस राज का खुलासा किया है।पर इन बाधाओ  को पार कर विद्या बालन आज बॉलीवुड के सफलतम अभिनेत्रियों में से खुद को साबित किया है।आइए जानते हैं विद्या बालन लाइफ मे आए गए उन बाधाओं के बारे में जिनके बारे में विद्या बालन ने खुद खुलासा किया है।

पहला खुलासा

विद्या बालन एक इंटरव्यू में बताया कि उन्होंने एक मलयालम फिल्म साइन की थी लेकिन उन्हें बिना किसी बात से ही फिल्म से निकाल दिया गया। फिल्म के निर्देशक मेरे माता पिता के पास गए और उनकी कुछ सीन दिखा कर कहा आप ही बताएं क्या यह हीरोइन लगती है किसी भी एंगल से।

यह सब देख विद्या बालन के अंदर अभिनेत्री बनने का सारा हौसला जैसे बुझ गया।निर्माता ने बाद में यह भी बोला कि मैंने डायरेक्टर के बोलने पर इस फिल्म में विद्या को लिया वरना बिल्कुल लेने की कोई बात ही नहीं थी।यह सब सुन विद्या बालन बिल्कुल अंदर से टूट चुकी थी।उन्होंने 6 से 8 महीने तक अपना चेहरा भी आईने में नहीं देख पाई थी।

दूसरा बड़ा खुलासा

विद्या बालन ने एक और हादसा  के बारे में बात करते हुए बताया कि जब हुआ चेन्नई में काम के सिलसिले में एक डायरेक्टर से मिलने गई तो वो बातों से मुझे बार-बार कमरे में जाने के लिए वो बोल रहा था। उसने कई बार कहा कि हमें कमरे में चलना चाहिए मुझे कुछ बात करनी है।विद्या बालन आगे बताती है कि मैं डायरेक्टर की बात मान उनके साथ कमरे में चली गई परंतु दरवाजा खुला छोड़ दिया। फिर क्या था डायरेक्टर 5 मिनट के बाद ही बिना कुछ बोले वहाँ से निकल गए।