पहली फ़िल्म की अपार सफलता के वावजूद सदमे मे आ गए थे ऋतिक रोशन, कमरे मे बंद हो रोते थे

Hrithik Roshan first movie : हमारे बॉलीवुड में किसी को रातों रात सफलता मिल जाती है तो कोई लाख कोशिशों के बाद भी कामयाबी हासिल नही कर पाता। हालांकि इन दोनों ही चीजों में जो एक चीज कॉमन होती है वो है इंसान के इमोशन्स और उनकी भावनाएं। इंसान अक्सर अपनी भावना व्यक्त करते करते रो देता है। फिर चाहे वो आंसू खुशी के हो या फिर गम के। इंसान हमेशा अपने साथ आसुंओं का टोकरा लेकर चलता है। ऐसा ही एक मशहूर किस्सा आज हम आपको बताने जा रहे हैं जो कि बॉलीवुड के मोस्ट हैंडसम हंक ऋतिक रोशन (Hrithik Roshan) के बारे में है।

Hrithik roshan

साल 2000 में रखा था बॉलीवुड में कदम :-

ऋतिक रोशन फिल्मी दुनिया के एक अकेले ऐसे अभिनेता है जो एक्टिंग, डांस, एक्शन, कॉमेडी और लुक्स का सिंगल पैकेज है। उनकी लगभग हर फिल्में बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट साबित होती है। वह अभिनय में माहिर तो है ही, साथ ही लोग उनके डांस मूव्स के भी कायल है। उनपर फिल्माया गया हर एक गाना और डांस स्टेप्स लोगों को बखूबी याद होता है। बतादें कि साल 2000 में पर्दे पर रिलीज हुई फ़िल्म ‘कहो ना प्यार है’ से ऋतिक रोशन ने अपने बॉलीवुड करियर की शुरुवात की थी। इस फ़िल्म में उनके साथ अमीषा पटेल भी लीड रोल में नजर आईं थीं।

Hrithik roshan

अकेले कमरे में फुत-फुटकर रोते थे ऋतिक रोशन :-

मालूम हो कि ये फ़िल्म लोगों को इतनी पसंद आई थी की इसकी सफलता ने ऋतिक को रातों-रात मशहूर कर दिया था। लेकिन इसी सफलता के बीच एक्टर के जीवन में एक ऐसा पल भी था जब वह अपने कमरे में अकेले रोते हुए मिले थे और उन्होंने इंडस्ट्री छोड़ने का फैसला कर लिया था। अपने एक इंटरव्यू में ऋतिक रोशन के पिता व डायरेक्टर राकेश रोशन ने बताया था कि भले ही उनके बेटे को पहली फ़िल्म में ही अपार सफलता मिल गई थी लेकिन वह इसके बाद काफी घबराए हुए थे। वह उत्साहित ना होकर अकेले अपने कमरे में फूट-फुटकर रो रहे थे। उनके दिमाग में ये बातें आ रही थी कि उन्होंने बॉलीवुड में आकर सही किया या गलत।

Hrithik roshan

पिता की बातों पर किया अमल :-

राकेश रोशन ने अपने इंटरव्यू में बताया, “मैंने उसके पास जाकर पूछा कि क्यों रो रहे हो, तो उसने बताया, मैं यह सब हैंडल नहीं कर पा रहा हूं। स्टूडियो में जाते ही लड़के और लड़कियां मुझसे मिलने आते हैं। सब मेरे साथ फोटो लेना चाहते है। मुझे कुछ सीखने का मौका नहीं मिल पा रहा है। एक्टिंग का मौका नहीं मिल रहा है। मैं काम पर फोकस नहीं कर पा रहा हूं। तब मैंने उसे समझाया और कहा कि इस बदलाव को आशीर्वाद की तरह लो। इसे एडजस्ट करके आगे बढ़ो।” मालूम हो कि अपने पिता की इस सलाह को ऋतिक रोशन ने काफी सीरियसली लिया जिसके परिणाम स्वरूप आज वह एक बड़े सितारे के तौर पर लोगों के सामने हैं।