दिल्ली के इस युवक ने दी कोरोना को मात जाने इनसे कैसे हुए ये ठीक

बहुत दिनों के कोरोना वायरस के हाहाकार मचाने के दुख भरे समाचार के बीच एक खुशी का समाचार दिल्ली से आया है। खबर यह है कि कोरोनावायरस से पीड़ित व्यक्ति आज बिल्कुल तरह से ठीक हो गए हैं।उन्हे अस्पताल से छुट्टी दी गई है। वह बिल्कुल ही ठीक है।

यह व्यक्ति कोई और नहीं दिल्ली मे आया पहला केस रोहित दत्ता का है। रोहित दत्ता जो दिल्ली के मयूर विहार में के रहने वाले थे वह सबसे पहले कोरोना वायरस से पीड़ित हो गए थे। रोहित गुप्ता जब इटली से यात्रा कर दिल्ली लौटे थे तो उनको कोरोना वायरस संक्रमित पाया गया था।रोहित 45 साल हैं।

वायरस के संकेत मिलने पर उनको सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उन्हें एक अलग वार्ड में रखा गया था। उन्होंने बताया कि इस वार्ड की सुविधा किसी वीआईपी से कम नहीं था। अच्छा खाना दिया जाता था। वार्ड में टीवी और मैगजीन की भीसुबिधा थी।परिवार वालों से बात करने में भी कोई परेशानी नहीं थी।

स्वास्थ्य मंत्री ने की बात

स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने भी रोहि रोहित दत्ता से वीडियो कॉल के जरिए बात की है। स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन जी ने उन्हें कोरोना वायरस को हारने पर उन्हें शुभकामनाएं भी दी है।उन्होंने कहा कि आपके इस हौसले  से देश के कई लोगों को करुणा वायरस से लड़ने की शक्ति मिलेगी।

रोहित शेट्टी के ठीक हो जाने के बाद अस्पताल के डॉक्टरों के बीच खुशी की लहर है। डॉक्टर बता रहे थे कि उन्हें विश्वास था कि वह रोहित शेट्टी को ठीक कर पाएंगे। वह लगातार इनकी मॉनिटरिंग कर रहे थे। जब उनका सैंपल 9 और 11 मार्च को दोबारा जांच आ गया तो उनकी रिपोर्ट नेगेटिव आई।और उन्हें 14 मार्च को छुट्टी दे दी गई।

सैंपल देना बहुत ही आसान

कोरोनावायरस की जांच के लिए जो सैंपल दिया जाता है उसमें कोई बड़ी प्रक्रिया नहीं होती। लोगों को डर है कि उनका खून निकाल लिया जाता है या कोई बड़ी प्रक्रिया होती। उनके केवल नाक और गले के जरिए सैंपल ली जाती है। यह बहुत ही आसान प्रक्रिया होती है इसमें किसी प्रकार का दर्द भी नहीं होता।

रोहित शेट्टी बताते हैं कि अगर सही तरह से डॉक्टरों के सुपरविजन में मरीजों का इलाज मिले तो और मरीजों में जिंदा होने का ललक  हो तो वह कोरोना वायरस को हरा सकता है। रोहित शेट्टी ने यह भी कहा कि वह कोरोना वायरस से डरे नहीं बल्कि सावधान रहें और अपने जिंदगी से हारे नहीं। वह कोरोना वायरस को हरा सकते हैं।