Bappi Lahiri के निधन के बाद उनकी गोल्ड ज्वैलरी पर बड़ा खुलासा, बेटे ने बताया क्या होगा इन सबका?

मशहूर संगीतकार बप्पी लहरी बीते महीने दुनिया को अलविदा कह गए। बप्पी लहरी को उनके गायन से परे दुनिया भर में उनके गोल्ड प्रेम के लिए भी जाना पहचाना जाता था। बप्पी लहरी सोने को शुभ मानते थे। यही वजह थी कि वह हमेशा बहुत सारा सोना पहने रहते थे। बप्पी लहरी के पास गोल्ड कलेक्शन भी बहुत ज्यादा है। वहीं उनके गोल्ड कलेक्शन को लेकर उनके बेटे ने एक बड़ा खुलासा किया है। दरअसल उनका परिवार बप्पी लहरी के गोल्ड कलेक्शन को लेकर एक प्लानिंग कर रहा है, जिसका खुलासा बप्पा लहरी ने एक इंटरव्यू के दौरान किया है।

Bappi Lahiri

क्या होगा बप्पी लहरी के गोल्ड क्लेक्शन का

बप्पी लहरी के बेटे बप्पा लहरी ने उनके गोल्ड कलेक्शन को लेकर खुलासा किया कि उनके पिता वेटिकन सिटी से लेकर हॉलीवुड तक दुनिया भर से गोल्ड के टुकड़े लाते थे। उन्होंने कहा कि सोना पहनना उनके लिए सिर्फ एक फैशन स्टेटमेंट नहीं था, बल्कि सोने से उनका आध्यात्मिक संबंध था। बप्पा लहरी ने बताया कि उनके पिता सुबह 5:00 बजे की उड़ान के दौरान भी अपना सोना पहनना नहीं भूलते थे। वह अपने सोने के संग्रह को अपना मंदिर और अपने शक्ति मानते थे।

Bappi Lahiri

आगे बप्पी लहरी ने बताया कि उनका परिवार एक संग्रहालय में सोने को संरक्षित करना चाहता है, क्योंकि यह उनके पिता की सबसे पसंदीदा चीजें थी। बप्पी लहरी ने कहा कि हम चाहते हैं कि लोग उनकी चीजों को देखें। इसलिए हम उन्हें एक संग्रहालय में रख रहे हैं। इसमें उनके जूते, उनका धूप का चश्मा, घड़ियां, टोपी सहित उनके सभी गोल्ड कलेक्शन के गहने भी इस संग्रहालय में रखे जाएंगे। उन्होंने कहा जो भी उन्हें पसंद था हम उन सबको संग्रहालय में प्रदर्शित करेंगे।

Bappi Lahiri

बप्पी लहरी को बॉलीवुड इंडस्ट्री में प्यार से बप्पी दा भी कह कर बुलाया जाता था। इसके साथ ही उन्हें डिस्को किंग भी कहा जाता था। 80 से 90 के दशक में भारत में डिस्को संगीत को बप्पी लहरी ने ही लोकप्रिय बनाया था। उनके गाने आई एम अ डिस्को डांसर, रात बाकी बात बाकी, नैनों में सपना, यार बिना चैन कहा रे, तम्मा तम्मा यह सभी डिस्को संगीत आज भी उतने ही लोकप्रिय हैं, जितने उस दौर में थे।