घरों में नहीं चलाए जा सकते हैं ट्रेन में लगे पंखे, रेलवे के इंजीनियरों ने लगाया है गज़ब का दिमाग

India Railway fan: भारतीय रेलवे  से हर दिन लाखों की तादाद में लोग सफर करते हैं। ट्रेन को देश की सबसे बड़ी लाइफ लाइन कहा जाता है। इसके जरिए लोग देश के एक छोर से दूसरे छोर तक का सफर कम बजट में तय कर सकते हैं। ऐसे में आपने अक्सर यह खबरें जरूर सुनी होंगी कि पुराने समय में ट्रेन में बहुत चोरी हुआ करती थी। खास तौर पर चोर ट्रेन के पंखे और लाइट जैसी चीजों को चुरा लिया करते थे, लेकिन अब अगर चोर ऐसा करते हैं तो उन्हें इसका भारी भुगतान भरना पड़ सकता है।

इतना ही नहीं उन्हें लंबे समय के लिए जेल जाना पड़ सकता है। पहले के समय में ट्रेन में पंखे और बल्ब चोरी होना आम बात थी, लेकिन अब भारतीय रेलवे ने इससे निपटने के लिए एक अनोखा ही तरीका निकाल लिया है, जिसके बाद चोर चाह कर भी ट्रेन के पंखे और लाइट चोरी नहीं कर पाएंगे। क्या है भारतीय रेलवे का यह अनोखा तरीका आइए हम आपको डिटेल में बताते हैं…

अब नहीं होगी ट्रेनों में चोरी

इंडियन रेलवे ने ट्रेनों में बढ़ते चोरी के मामले को देखते हुए नई टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया। इतना ही नहीं इस टेक्नोलॉजी के जरिए उन्होंने बढ़ते चोरी के मामले पर लगाम भी लगाई। दरअसल इंजीनियर ने पंखे को कुछ इस तरीके से डिजाइन किया है कि वह उसे चोरी भी हो जाए, तो उनका इस्तेमाल आम लोग घरों में नहीं कर सकते। यह सिर्फ ट्रेन में ही यूज किए जा सकते हैं और पैसेंजर ट्रेन की बोगी में ही आप इन पंखों के जरिए हवा ले सकते हैं।

 India Railway fan

ऐसे में यह बात सुनकर आप जरूर सोच रहे होंगे कि आखिर ऐसा कैसे हो सकता है, तो आइए हम आपको इसकी डिटेल में जानकारी देते हैं। साथ ही बताते हैं कि आखिर इंजीनियर्स ने इन्हें किस टेक्नोलॉजी के तहत बनाया है कि यह घरों में इस्तेमाल नहीं किए जा सकते। इन पंखों में ऐसा क्या है कि ट्रेन की बोगी से निकलने के बाद यह पंखे सिर्फ कबाड़ ही रह जाते हैं।

क्यों ट्रेन के पंखों को घर में नहीं चलाया जा सकता

घर में इस्तेमाल की जाने वाली बिजली दो तरह की होती है, इसमें पहला एसी (अल्टरनेटिंग करंट) और दूसरा डीसी (डायरेक्ट करंट)। घर में इस्तेमाल की जाने वाली बिजली को सिर्फ यही दो प्रकार होते हैं, जो अधिकतम पावर 220 वोल्ट की जनरेट करते हैं। वहीं अगर डीसी के उपयोग की बात की जाए तो पावर 5, 12, 24 वोल्ट की होती है, जबकि ट्रेन में लगाए जाने वाले पंखों को 110 वोल्ट का बनाया जाता है, जो सिर्फ डीसी से चलता है। घर में इस्तेमाल होने वाली डीसी बिजली 5, 12, 24 वोल्ट से अधिक नहीं हो सकती। ऐसे में इन्हें चोर अपने घर में इस्तेमाल नहीं कर सकते।

 India Railway fan

भारतीय रेलवे में चोरी करने पर कितने साल की सजा होगी

ट्रेन में लगाए जाने वाले पंखे सिर्फ ट्रेन में ही चलाए जा सकते हैं, इसलिए इन पंखों की चोरी करना चोरों के लिए भी बिल्कुल बेकार है। ट्रेन एक राष्ट्रीय संपत्ति है और इसमें चोरी करने का मतलब राष्ट्रीय संपत्ति की चोरी करना है। ऐसे में ट्रेन में चोरी करने वाले आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 380 के तहत केस दर्ज किया जाता है। दोषी पाए जाने पर उसे 7 साल की कैद के साथ-साथ जुर्माना भी देना पड़ता है। खास बात यह है कि राष्ट्रीय संपत्ति के चोरी के मामले में आरोपी को जमानत भी नहीं मिलती है।