Vande Bharat Express: मार्च तक 25 नई वंदे भारत ट्रेने चलेंगी, जानिए कहां-कहां से होगा रुट

New Vande Bharat Express: भारतीय रेलवे (Indian Railway) से सफर करने वाले यात्रियों के लिए एक बड़ी खुशखबरी है। दरअसल रेल यात्रियों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार (Indian Government) और रेलवे बोर्ड (Railway Board) की तरफ से वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन (Vade Bharat Express Train) के परिचालन को लेकर तेजी से काम चल रहा है। याद दिला दें इसी साल 15 अगस्त के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने 75 शहरों में सेमी हाई स्पीड ट्रेनों को वंदे भारत ट्रेन से जोड़ने की घोषणा की थी। हालांकि इस दौरान शहरों के नाम की जानकारी नहीं दी गई थी। वहीं बीते डेढ़ महीनों में 2 नई वंदे भारत ट्रेनों (New Vande Bharat Train) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हरी झंडी दिखाकर रवाना कर चुके हैं।

जल्द पटरी पर दौड़ेगी 5वीं वंदे भारत ट्रेन

इस कड़ी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुंबई-अहमदाबाद और नई दिल्ली से अंदौरा के बीच चलने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाई है। वही अब 10 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पांचवी वंदे भारत ट्रेन को चेन्नई-बेंगलुरु के रूट पर चलने वाली ट्रेन को हरी झंडी दिखाएंगे।

याद दिला दे बीते दिनों रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने नई दिल्ली से खजुराहो रूट पर नई वंदे भारत ट्रेन को चलाने का ऐलान किया था। इस कड़ी में रेल मंत्रालय जल्द ही इसे जमीनी स्तर पर हकीकत का अमलीजामा पहनाने का काम शुरू कर देगा। रिपोर्ट के मुताबिक इस फाइनैंशियल ईयर में रेलवे की प्लानिंग मार्च 2023 तक 25 नई वंदे भारत ट्रेनों के परिचालन को शुरू करने की है। गौरतलब है कि इंटीग्रल कोच फैक्ट्री, चेन्नई की प्लानिंग मार्च तक 27 मई ट्रेनों को तैयार करने की है। इसके साथ ही इन्हें देश के कई रूटों पर चलाया जाएगा।

इन रुटों पर पहले से चल रही वंदे भारत एक्सप्रेस

इनमें से 2 ट्रेने पहली गांधीनगर से मुंबई और नई दिल्ली से अंधेरा के बीच हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा हरी झंडी दिखाने के बाद से शुरू हो गई है। वहीं रेलवे बोर्ड के चेयरमैन वीके त्रिपाठी ने हाल ही में आईसीएफ चेन्नई का विजिट किया था। उन्होंने बताया कि जल्द ही नई ट्रेन को चेन्नई में शुरू रूट पर संचालित कर दिया जाएगा। साथ ही उन्होंने इस दौरान यह भी बताया था कि नई वंदे भारत ट्रेन पहले चलने वाली ट्रेनों से ज्यादा एडवांस है। साथ ही यह स्पीड के मामले में यह बुलेट ट्रेन को भी टक्कर देंगी।