चीनी विशेषज्ञों ने कहा अज्ञात वायरसों और हो सकता है हमला,कोरोना छोटा मामला

चीन की एक प्रमुख विशेषज्ञ ने एक बड़ा खुलासा करते हुए कहा कि अभी नए अज्ञात वायरसों का और भी हमला हो सकता है,कोरोना तो महज एक छोटा मामला है। यह तो मात्र समस्या की शुरुआत है।चीन के संदिग्ध संस्थान वुहान इंस्टिट्यूट ऑफ बायोलॉजी के डिप्टी डायरेक्टर शी झेगीली ने चीन के सरकारी टेलीविजन पर बात करते हुए यह चेतावनी दिय है।

शी झेगीली कहा जाता है बैट वुमेन

शी झेगीली कहा जाता है बैट वुमेन

डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार शी झेगीली ने चमगादड़ में मौजूद बैट कोरोना वायरस पर रिसर्च की है,इसलिए चीन में इसे बैट वुमेन कहा जाता है।शी झेगीली कहा कि जो अभी वाइरस को लेकर रिसर्च किए जाते हैं उसको लेकर सरकार और वैज्ञानिकों को पूरी पारदर्शिता रखनी चाहिए।उन्होंने कहा कि यह काफी दुखद है कि आज विज्ञान का भी राजनीतिकरण किया जा रहा है।

अज्ञात वायरस को लेकर काफी जानकारी जुटाने पड़ेगी

अज्ञात वायरस को लेकर काफी जानकारी जुटाने पड़ेगी

चीन के सरकारी टेलीविजन से बातचीत में शी झेगीली ने कहा कि अगर हम इंसानों को अगले अज्ञात संक्रामक बीमारी से बचाना चाहते हैं तो हमें जीवो में मौजूद अज्ञात वायरस को लेकर काफी जानकारी जुटाने पड़ेगी।इसे लेकर चेतावनी भी देनी पड़ेगी।

एक और संक्रामक बीमारी फिर से हो सकता है

एक और संक्रामक बीमारी फिर से हो सकता है

झेगीली ने कहा कि अगर हम अज्ञात वाइरस पर स्टडी नहीं करेंगे तो यह संभव है कि एक और संक्रामक बीमारी फिर से हो सकता है।बता दें कि शी झेगीली का इंटरव्यू ऐसे वक्त में दिया गया है जब चीन के प्रमुख नेताओं की सालाना बैठक शुरू होने वाली है।

वुहान में स्थित चीनी लैब पर शक

वुहान में स्थित चीनी लैब पर शक

वही दुनिया के कई ऐसे देश वुहान में स्थित चीनी लैब को शक के निगाह से देख रहे है।अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने कहा था कि इस बात का पूरा सबूत है कि कोरोना वाइरस चीनी लैब से ही फैला है।

जबकि चीन वुहान इंस्टिट्यूट ऑफ बायोलॉजी अपने उपर लग रहे इन सभी आरोपो को पूरी तरह से खारिज करता है।अब ऐसे समय मे वुहान इंस्टिट्यूट ऑफ बायोलॉजी के प्रमुख शी झेगीली की दिये इंटरव्यू से फिर से यह मामला तुल पकड़ने लगा है।