आतंकियों से लोहा लेते हुए शहीद हुए कैप्टन आशुतोष समेत तीन साथी

रविवार की सुबह जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा के मछिल सेक्टर में आतंकियों से लोहा लेते हुए देश के 3 जवान शहीद हो गए। सभी जवानों को सेना प्रमुख एम एम नरणवे ने श्रद्धांजलि दी है। जिन सेना के जवानों ने अपना जान देश के लिए नवछावर किया है उनका नाम कैप्टन सौरभ कुमार, हवलदार प्रवीण कुमार और राइफलमैन अयादा महेश्वर है। इन तीनों वीर सैनिकों ने का काफी वीरता से देश की रक्षा की। ये नौजवान 98 मद्रास रेजीमेंट से आते हैं।

शहीद कैप्टन आशुतोष कुमार बिहार के मधेपुरा से हैं। यह अपने माता पिता के एकमात्र बेटे थे। कैप्टन आशुतोष कुमार के निधन की सूचना मिलते ही सारे गांव में शोक की लहर दौड़ गई। उनके घर पर आने जाने वाले लोगों का ताता लगा रहा। सभी का रो रो कर बुरा हाल है। लोगों ने कहा कि हमारे बेटे ने वीरता के साथ आतंकियों का मुकाबला किया। इतना ही नहीं उन्होंने तीन आतंकवादियों को मार भी गिराया। हम लोग को अपने बेटे पर गर्व है।

ग्रामीणों ने बताया कि बचपन से ही आशुतोष पढ़ने में काफी मेधावी रहे। वह हमेशा गांव के युवाओं को देश की सेवा करने के लिए प्रेरित करते रहते हैं। जब भी वह गांव आते हैं तो युवाओं को देश में सेना में जाने के लिए मदद करते हैं।

आशुतोष कुमार के परिवार में इनके माता-पिता के साथ उनकी दो बहने भी हैं। उनकी दो बहने का नाम खुशबू कुमारी और अंशु कुमारी है। इन सभी का रो रो कर बुरा हाल है। आशुतोष कुमार माता पिता के इकलौते बेटे और अपने बहन के इकलौते भाई थे। उनके चले जाने से परिवार का चिराग ही चला गया। इन सब के वावजूद लोग अपने बेटे पर गर्व कर रहे हैं, और कह रहे मेरे बेटे ने मेरे देश और मेरा नाम ऊंचा किया है।

तेजस्वी यादव ने दी श्रद्गंजली

अब बिहार के आरजेडी के मुख्यमंत्री उम्मीदवार तेजस्वी यादव ने भी शहीद आशुतोष कुमार को श्रंदंजली दी है। उन्होने कहा देश की रक्षा करते हुए जम्मू के कुपवाड़ा मे आतंकियों की घुसपैठ को नाकाम करने की कोशिश करने मे बिहार के लाल आशुतोष कुमार समेत तीन जवान शहीद ही गए। इन जवानो को शत शत नमन।