बोल्ड अभिनेत्रियों से साध्वी तक ऐसा रहा ममता कुलकर्णी का सफर, अचानक क्यों छोड़ दिया था बॉलीवुड?

90 के दशक में अपनी खूबसूरती और बोल्डनेस के चर्चों के साथ छाई बॉलीवुड अभिनेत्री ममता कुलकर्णी (Mamta Kulkarni) ने अचानक से इंडस्ट्री को अलविदा कह दिया था। एक दौर में हर जगह उनके चर्चे हुआ करते थे। बॉलीवुड में कदम रखते ही उनका स्टारडम लोगों के सर चढ़ गया था। एक के बाद एक उन्होंने कई दमदार फिल्मों (Mamta Kulkarni Films) में काम किया। बाजी, नसीब, करण-अर्जुन, आशिक आवारा, जैसी कई सुपरहिट फिल्मों में उन्होंने काम किया। अपने छोटे से बॉलीवुड करियर (Mamta Kulkarni Bollywood career) में ममता कुलकर्णी ने आमिर खान, सलमान खान, शाहरुख खान और अक्षय कुमार जैसे कई सुपरस्टार के साथ काम किया।

Mamta Kulkarni

ममता कुलकर्णी का बॉलीवुड सफर

ये वो वक्त था जब ममता कुलकर्णी के सितारे बुलंदी पर थे…कहा जाता था कि ममता कुलकर्णी बॉलीवुड में लंबे समय तक टिकेंगी, लेकिन शायद ममता कुलकर्णी और उनकी किस्मत दोनों को ही कुछ और मंजूर था। इस दौरान एकाएक ममता कुलकर्णी का नाम लगातार नए विवादों में घिरने लगा। उनकी निजी जिंदगी सुर्खियों का केंद्र बन गई।

Mamta Kulkarni

डॉन के साथ लव-अफोयर्स के रहे चर्चे

एक के बाद एक नए विवाद में फंसने के बाद ममता कुलकर्णी की छवि लगातार खराब होती गई। कभी उनका नाम अंडरवर्ल्ड डॉन के साथ सुर्खियों में छाया, तो कभी उनके टॉपलैस फोटोशूट ने चौतरफा सुर्खियां बटोरी। ऐसे में ममता कुलकर्णी की इमेज लगातार खराब होने लगी।

Mamta Kulkarni

शादी कर छोड़ दिया देश

ममता और अंडरवर्ल्ड का कनेक्शन जब खबरों में छाया तो उन्होंने साल 2002 में चोरी छुपे ड्रग माफिया विक्की गोस्वामी से शादी की और फिल्म इंडस्ट्री को अचानक अलविदा कह दिया। ममता कुलकर्णी शादी के बाद केन्या में बस गई। कई सालों तक गुमनामी की जिंदगी काटने के बाद साल 2014 में उन्होंने वापसी कर सभी को चौंका दिया।

Mamta Kulkarni

साध्वी बन की वतन वापसी

अचानक से उनकी वापसी एक बार फिर इंडस्ट्री में चर्चा का केंद्र बन गई। बता दे ममता कुलकर्णी की जिंदगी इतनी उतार-चढ़ाव से गुजरी है कि उनकी जिंदगी पर एक ऑटोबायोग्राफी बाय योगिनी भी लिखी गई है। यह किताब खुद ममता कुलकर्णी ने लिखी और लॉन्च की है।

Mamta Kulkarni

ममता कुलकर्णी ने जब वापसी की तो वह बेहद अलग लुक और अलग अंदाज में नजर आई। 90 के दशक की टॉप अभिनेत्री अब साध्वी बन चुकी थी। भगवा रंग के कपड़े और माथे पर बड़ा सा टीका… ममता को एक नजर में पहचानना भी मुश्किल था। इसके बाद ममता ने खुद खुलासा किया कि वह साध्वी बन चुकी है और उन्होंने आध्यात्म का रास्ता चुन लिया है।