इस फिल्म के दौरान अनुपम खेर को मार दिया था लकवा, फिर भी टेढ़े चेहरे ही साथ पूरी की फिल्म

अनुपम खेर (Anupam Kher) बॉलीवुड इंडस्ट्री का एक नामचीन चेहरा है। उन्होंने अब तक बॉलीवुड इंडस्ट्री में 500 से ज्यादा फिल्मों (Anupam Kher Films) में काम किया है। हालांकि यह बात अलग है कि अब तक वह किसी भी फिल्म में बतौर लीड एक्टर नजर नहीं आए हैं। अनुपम खेर अपने दमदार अभिनय और जानदार डायलॉग्स से हर फिल्म में जान डाल देते हैं। अनुपम खेर की ज्यादातर फिल्मों ने बॉक्स ऑफिस पर धुआंधार कमाई की है। अनुपम खेर की सुपरहिट फिल्मों (Anupam Kher Superhit Films) में सारांश, दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे, दिल है कि मानता नहीं, राम लखन जैसी कई फिल्मों के नाम शामिल हैं।

Anupam Kher

बॉलीवुड में अनुपम खेर का सफर

अनुपम खेर के अभिनय सफर से एक किस्सा ऐसा जुड़ा है, जो उनके काम और काम के प्रति उनके प्रेम की भावना को बयां करता है। यह किस्सा उस वक्त का है, जब अनुपम खेर हम आपके हैं कौन फिल्म के लिए काम कर रहे थे। इस दौरान अचानक उन्हें फेशियल पैरालाइसिस (Anupam Kher Facial Paralysis Story) से जूझना पड़ा। खास बात यह रही कि डॉक्टर के कहने के बावजूद भी उन्होंने फिल्म की शूटिंग नहीं रोकी और चेहरा टेढ़ा होने के बाद भी शूट को बखूबी कंप्लीट किया।

अगर आप फिल्म को ध्यान से देखेंगे तो आपको खुद भी फिल्म के एक सीन में उनका चेहरा लकवा से ग्रसित नज़र आएगा। हालांकि उन्होंने इस दौरान भी अपने अभिनय से उसे बखूबी संभालने की कोशिश की है। अनुपम खेर ने अपनी जिंदगी के इस मुश्किल दौर में काफी हिम्मत दिखाई थी। इस बात का जिक्र खुद अनुपम खेर कर चुके हैं।

Anupam Kher

जब फेशियल पैरालाइसिस का पता चला

उन्होंने कहा- एक दिन अनिल कपूर के यहां खाना खा रहा था, तो सुनीता ने कहा कि आपकी एक आंख से ब्लिंक नहीं हो रहा है, तो मुझे लगा कि मैं थक गया हूं। सुबह जब ब्रश कर रहा था तो मुंह के एक साइड से पानी निकल रहा था। साबुन भी चला गया था आंख में… इसके बाद मैं यश चोपड़ा जी के घर गया। मैंने कहा- यश जी मेरा चेहरा लेफ्ट में कुछ ज्यादा ही शिफ्ट हो रहा है। इस पर उन्होंने कहा- मजाक मत करो, डॉक्टर के यहां जाओ।

डॉक्टर ने कहा कि 2 महीने तक सब कुछ बंद करके दवाई लीजिए। आपको फेशियल पैरालाइसिस हुआ है। अनुपम खेर ने बताया कि हम आपके हैं कौन का अंताक्षरी वाला सीन शूट होना था। मैंने सोचा कि अगर डरकर आज घर चला गया, तो पूरी जिंदगी इस बात का एहसास होगा कि- बीमार हो जाओ तो काम छोड़ कर घर पर बैठ जाना चाहिए।

Anupam Kher

हिम्मत के साथ कंप्लीट किया शूट

अनुपम खेर ने आगे बताया कि- इसके बाद में फिल्मिस्तान स्टूडियो पहुंच गया और शूटिंग की। काफी देर तक सलमान खान और माधुरी दीक्षित को लगता रहा कि मैं ऐसा मुंह बनाकर कोई कॉमेडी कर रहा हूं। फिर मैंने सबको इकट्ठा किया और बताया कि यह प्रॉब्लम है, मगर में शूटिंग करने को तैयार हूं। इसके बाद फिल्म में अनुपम खेर का सीन बदल दिया गया। अंताक्षरी के दौरान उन्हें शोले वाला सीन दिया गया। इसके बाद इस फिल्म का यह शूट कंप्लीट हुआ।