कोरोना के संकट के बीच अब चीन ने दागी मिसाइल,आखिर चीन के मन मे क्या!

पूरी दुनिया अभी कोरोना वायरस के कहर से परेशान है जो कि चीन के वुहान शहर से सामने आया था अब चीन इस करोना संकट के बीच में ही अपनी मिलिट्री एक्सरसाइज शुरू कर दी है। वह पिछले दिन ही अपने ताकत का प्रदर्शन करते हुए चीन की नौसेना ने रियलिस्टिक मैरिटाइम ऑपरेशन में भाग लिया।

कर रहा है मिलिट्री प्रैक्टिस

इतना ही नहीं इसके कुछ दिन पहले चीन ने एक अनजान जगह पर अपना एक सैन्य युद्धाभ्यास भी किया है।चीन के इस तरह से मिलिट्री प्रैक्टिस से उनके पड़ोसी देश में काफी चिंता मे आ गए। इसमें सबसे ज्यादा परेशान होने वाले देश जापान और ताइवान है।

अपने युद्धपोत से दागे मिसाइल

इस बार चाइना ने चीन के दक्षिणी सागर इलाके में अपने युद्धपोत से अपने मिसाइल दागे हैं। उसने अपने इस युद्ध पोतों से सैकड़ों मिसाइलें और गाइडेड मिसाइल का परीक्षण किया है।चीनी सेना की ऑफिशियल वेबसाइट ने इन परीक्षणों की तस्वीरें चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स में प्रकाशित किया है।

जापान और ताइवान आया डर

बता दें कि चीन के दक्षिणी चीन सागर समुद्र में जापान और ताइवान मौजूद है। इन दोनों देशों को लग रहा है कि कहीं चाइना कोरोना वायरस के आर में हम पर हमला ना कर दे। इसको लेकर जापान ने भी अपनी कमर कस ली है और चीन से सटे अपने इलाके मे अपनी मिसाइलें और अपने सैनिक को तैनात कर दिया है।

पहले भी ताइवान को उकसा चुका है चीन

ताइवान ने चीन पर आरोप लगाते हुए बताया कि चीन ने 29 मार्च उसके एयरस्पेस में अपने फाइटर जेट को भेजा था। चीन ने ताइवान को भड़काने के लिए अपने फाइटर जेट भेजे जिसके ताइवानी लड़ाकू विमान ने इसको पीछे करते हुए वहां से खदेड़ दिया था।इन सब को देखते हुए ताइवान ने भी अपनी युद्धाभ्यास शुरू किया है।

उत्तर कोरिया भी मिसाइले का कर रहा परीक्षण

इन सबके बीच खबर उत्तर कोरिया से भी आई है कि उत्तर कोरिया ने भी 29 मार्च की रात को मल्टीपल रॉकेट लांचर का सफल परीक्षण किया था। उत्तर कोरिया ने पिछले 1 महीने में चार परीक्षण किए हैं जिनमें कम दूरी के दो मिसाइल है।

एंटी टैंक मिसाइल को एक्सपोर्ट के लिए तैयार

चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स के द्वारा बताया गया है कि उनकी सेना पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ने मुख्य युद्धक टैंकों के साथ रात में एक्सर्साइज़ किया है।इसके अलावा चीन ने जो 29 मार्च को अपना अत्याधुनिक पोर्टेबल एंटी टैंक मिसाइल को एक्सपोर्ट करने की अनुमति भी प्रदान किया था जो उसका भी परीक्षण रविवार को किया गया है। यह अब बुधवार तक खरीदारों के लिए उपलब्ध हो जाएगी।