वर्दी ने वर्दी को ही नहीं समझा,थाने ने ऐसे क्यों बांधा CRPF के कोबारा कमांडो को?

कर्नाटक के बेलगाम जिले के चिखुरी इलाके में एक ऐसी घटना सामने आई है जिसमें वर्दी वाले नहीं वर्दी को नहीं समझा है और बिना कोई गलती को ऐसे ही उसे इस तरह से चैन से बांध के रखा है कि सारी वर्दी शर्मसार हो गई।

27 साल के कोबरा कमांडो बटालियन में तैनात सचिन अभी घर पर छुट्टी के लिए आए थे।वह अपने घर के बाहर अपनी बाइक को साफ कर रहे थे।इस दौरान उन्होंने बिना मास्क ही पहने गाड़ी को धो रहे थे।पुलिस ने इसे लोग डाउन का उल्लंघन करार दिया गया।

कुछ देर के बाद मामला इतना बढ़ गया कि पुलिसकर्मी ने सीआरपीएफ के जवान को पीटा और उसके कपड़े भी फाड़ दिए उसके बाद उनको हथकड़ी पहनाकर पैदल ही थाने तक ले आए और उसको ऐसे जंजीरों से बांध दिया जैसे किसी बड़े क्रिमिनल को पकड़ा हो।

इस पूरे मामले में बेलगामी की एसपी ने बताया कि यह सीआरपीएफ के जवान पुलिसकर्मी का कालर पकड़ पुलिस पर हाथ उठाया जिसकी वजह से पुलिस कर्मियों को भी लाठी उठानी पड़ी पड़ी इसके लिए सीआरपीएफ के जवान के खिलाफ शांति भंग करने और पुलिस कोई कार्यवाही में दखल देने का मामला भी दर्ज किया है।

मामले को तूल पकड़ते देख सीआरपीएफ के अतिरिक्त निदेशक ने कर्नाटक के डीजीपी को पत्र लिखकर मामले की पूरी जांच करने की बात कही है।सीआरपीएफ के डीजी ने बताया कि मंगलवार को कोबरा कमांडो की जमानत याचिका अदालत में जाएगी तो उस समय सीआरपीएफ के अधिकारी भी वहां मौजूद रहेंगे और जमानत मिलने के बाद कोबरा कमांडो के मामले की जांच पूरी संजीदगी से कराई जाएगी।

फोटो देख सबै भड़के

बता दें कि यह फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है इस फोटो में कोबरा कमांडो सचिन को चैन बांधे नीचे जमीन पर बैठा दिखाया जा रहा है।इस कोबरा कमांडो का नाम सचिन सुनील सावंत है। घरवालों ने सचिन के मारपीट का वीडियो भी सीआरपीएफ के वरिष्ठ अधिकारियों को दिया है जिससे पता चल रहा है कि कर्नाटक के पुलिस कर्मियों ने किस तरह से सीआरपीएफ के जवान की पिटाई की है और उसे चैन से बांधकर कैसे रखा है।