महाभारत की द्रोपदी का बड़ा खुलासा-कहा 18 लोगो ने मुझे रोड पर पटक किया था ऐसा

पालघर में हुई मौत लॉन्चिंग कि सोशल मीडिया पर काफी कड़ी प्रतिक्रिया सब के द्वारा सामने आ रही है।पालघर में तीन लोगों को भीड़ द्वारा हत्या कर दी गई थी और इस हत्या के दौरान पुलिस भी वहां मौजूद थे परंतु उनके सामने ही इन तीनों लोगों की हत्या कर दी गई इन तीनों लोगों की पहचान सुशील गिरी महाराज,चकने महाराज तथा निलेश दिलकरे के रूप में किया गया है निलेश इनका  ड्राइवर था। अब सोशल मीडिया पर सभी लोग इस लांचिंग की कड़ी प्रतिक्रिया कर रहे हैं

महाभारत की द्रोपदी के साथ हुआ था ऐसा

वहीं इस प्रतिक्रिया को लेकर महाभारत की द्रोपदी बनी रूपा गांगुली ने भी अपना एक का दर्दनाक खुलासा किया है।रूपा गांगुली जो कि एक महाभारत में द्रोपदी बनी है और अभी बंगाल से राज सभा में सांसद भी हैं ने बताया कि वह भी मॉब लिंचिंग की शिकार हो चुकी है।पालघर की घटना को देख उनका भी आज दर्दनाक घटना उभर कर सामने आया है।

आज रूपा गांगुली ने अपने ट्विटर अकाउंट से अपने चीरहरण वाले सीन को शेयर करते हुए पालघर की घटना पर लिखा है कि हे कृष्णा हे कृष्णा हे कृष्णा आप कहां हो।रूपा गांगुली अपने मोब लिंचिंग के  बारे में बताते हुए कहती है कि 26 मई 2016 को डायमंड हर्बल में यह घटना मेरे साथ हुआ था।

करीब 18 लोग पुलिस को साथ लेकर आए और मुझे गाड़ी से उतारकर मुझे पटक-पटक कर उन लोगों ने मुझे बहुत मारा था। रूपा गांगुली आगे बताती है कि गाड़ी में भी काफी तोड़फोड़ की गई थी। मुझे 2-2 ब्रेन हेमरेज झेलने पड़े थे पर गनीमत इतनी ही रही की मेरी जान बच गई।

इन सब कहने के बाद रूपा गांगुली पालघर में हुई मौत लिंचिंग के लिए अपना दुख प्रकट करती है बता दें कि पिछले दिन ही पालघर मॉब लिंचिंग में दो साधुओं की हत्या भीड़ द्वारा कर दी गई है।

अब इन हत्या के आरोप में अभी 110 लोगों की गिरफ्तारी भी हो चुकी है इनमें से 9 नाबालिग भी शामिल है आरोपियों ने साधुओ के ड्राइवर और पुलिसकर्मियों पर भी हमला किया था।