इन राज्यों पर मंडराया साइक्लोन का खतरा,अगले 6 घंटे होंगे बेहद…

बंगाल की खाड़ी में उठा चक्रवात तूफान एमफ़न अब साइक्लोन में बदल चुका है।इससे इन राज्य पर साइक्लोन का खतरा मंडराने लगा है ।यह अब बहुत तेजी के साथ पश्चिम बंगाल और उड़ीसा की तरफ बढ़ रहा है। मौसम विभाग ने अनुमान लगाया है कि यह साइक्लोन काफी तबाही मचा सकता है।

साइक्लोन के खतरे को देखते हुए राज्य सरकार के साथ-साथ केंद्र सरकार भी काफी एक्टिव है। गृह मंत्री अमित शाह ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से इस बारे में बात की है। गृह मंत्री ने ममता बनर्जी को हरसंभव मदद करने की बात कही है।

मोदी जी भी लिए जायजा

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने सोमवार शाम को गृह मंत्री और एनडीमए के साथ एक बैठक भी की है। इस बैठक में साइक्लोन से निपटने की तैयारियों के बारे में चर्चा की गई।पश्चिम बंगाल और उड़ीसा के हालत को गंभीर देखते हुए वहां के गृह सचिवों से भी बात की गई है।

अगले 6 घंटे बेहद अहम

मौसम विभाग के द्वारा मिली जानकारी के अनुसार,चक्रवाती तूफान आज दोपहर से शाम तक बंगाल की खाड़ी से उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ेगा।यह पश्चिम बंगाल,बांग्लादेश के बीच हटिया डीप समूह और सुंदरवन के हिस्सों की ओर बढ़ सकता है।यह धीरे-धीरे काफी तीव्र रूप में बदल जाएगा।इससे तटीय राज्यों को काफी नुकसान होने का खतरा बताया गया है।इन राज्यों की अगले 6 घंटे काफी अहम होंगे।

इस साइक्लोन पर मौसम विभाग ने पूर्वी तटों कि राज्य तमिलनाडु, पांडुचेरी ,आंध्र प्रदेश, उड़ीसा, पश्चिम बंगाल त्रिपुरा, मिजोरम, मणिपुर और सभी तटीय इलाकों को ऑरेंज जोन जारी कर दिया है।वहीं उड़ीसा के तटीय इलाके हाई अलर्ट पर रखे गए हैं।

इन राज्य पर विशेष प्रभाव

भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के द्वारा बताया गया कि बंगाल की खाड़ी में बने चक्रवात से पश्चिम बंगाल और उड़ीसा में भारी नुकसान हो सकती है।इन 6  दोनों राज्यों में यह तूफान काफी तबाही मचा सकता है।मौसम विभाग के द्वारा यह भी  बताया गया कि यह तूफान 700 किलोमीटर तक फैला होगा लगभग 15 किलोमीटर ऊंचाई वाला होगा। जो कि अपने केंद्र से 220 से 230 किलोमीटर प्रति घंटे से घूम  रहा है।यह तूफान काफी तेज चाल से उत्तर की ओर बढ़ रहा है।

एनडीआरएफ की पूरी तैयारी

इस पर एनडीआरएफ भी अपनी नजर बनाए हुए है।एनडीआरएफ के डीजी ने बताया कि उड़ीसा और पश्चिम बंगाल के द्वारा जो भी मांगे की जाएगी उन्हें सारी पूर्ति की जाएगी।अभी पश्चिम बंगाल में एनडीआरएफ की 2 टीमों को तैनात कर दिया गया है।इसके अलावा चार अन्य टीमों को भी स्टैंड बाय पर रखा गया है।उड़ीसा में एनडीआरएफ की 13 टीमें तैनात की गई है और 17 टीमें को स्टैंडबाई पर रखा गया है। इसके साथ ही आर्मी,एयरफोर्स, नेवी कोस्ट गार्ड को भी अलर्ट कर दिया गया है।